Sunday, September 13, 2015

मूर्ति बेचने वाले गरीब कलाकार के लिए,
किसी ने क्या खूब लिखा है....

गरीबो के बच्चे भी खाना खा सके त्योहारों में,

इसिलिये भगवान खुद बिक जाते है बाजारों में.....👌👌👌👌

No comments:

Post a Comment